नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड – nainital tourist places in hindi

nainital tourist places in hindi नैनीताल सिर्फ उत्‍तराखण्‍ड का ही नहीं बल्कि भारत के सबसे प्रसिद्ध हिल-स्‍टेशनों में से एक है। उत्‍तराखण्‍ड जिसे देवों की भूमि कहा जाता है यह उत्‍तर भारत में हिमालय की गोद में बसा हुआ एक खूबसूरत राज्‍य है। यहॉं पर प्राकृतिक सुन्‍दरता जैसे नदियॉं, पहाड, झरने इस राज्‍य की खूबसूरती में चार चॉंद लगा देती हैं।

नैनीताल को भी यही सब विरासत के तौर पर मिला है। नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड़ में कुमाऊँ हिमालय पर समुद्र तल से लगभग 6,837 फिट की उंचाई पर बसा है। नैनीताल अपनी खूबसूरती और अनुकूल वातावरण के कारण हर साल लाखों सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है यहॉं कई झीलें है जिनमें से कुछ मानव निर्मित और कई प्राकृतिक है और चारो ओर उंचे-उंचे पहाड, हरे-भरे जंगल यहां होने के कारण इसे एक परफेक्‍ट डेस्टिनेशन बनाता है।

Nainital photo

नैनीताल में घूमने की जगहों की बात करें तो यहॉं पर नैनी नाम की एक बहुत ही खूबसूरत झील है जिसमें नौकायान भी किया जा सकता है इसके अलावा स्‍नो व्‍यू प्‍वाइंट, नैनी पीक, टिफिन टॉप, सेंट जॉन चर्च इन वाइल्डरनेस, नैना देवी मन्दिर, नैनीताल का चिड़ियाघर, मॉल रोड, इको गुफा गार्डेन, खुर्पाताल, आदि कई जगहों पर घूमा जा सकता है।

नैनीताल घूमने का सबसे अच्‍छा समय – Best time to visit in Nainital in hindi

अगर हम नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड घूमने के सबसे अच्‍छे समय की बात करें तो यहॉं हर मौसम में अपना एक अलग अनुभव होता है। गर्मियों में यहाँ का मौसम मानव अनुकूल होता है जबकि सर्दियों में लोग यहाँ स्‍नोफॉल का लुफ्त उठाने आते हैं।

सर्दियों में नैनीताल – Nainital in Winter

अक्टूबर मौसम में सैलानियों के लिए सबसे अच्‍छा समय है क्योंकि मौसम शांत और अनुकूल होता है क्‍योंकि दिसंबर में कभी-कभी भारती बर्फबारी हो जाती है जिससे यहां का तापमान माइनस में चला जाता है। फिर भी विंटर स्‍पोर्ट का मजा लेने वाले और बर्फबारी का आनंद लेने के लिए बड़ी मात्रा में लोग पहुंचते हैं।

गर्मियों में नैनीताल – Nainital in summer

गर्मियों का मौसम में नैनीताल घूमने का सबसे अच्‍छा समय होता है। मार्च, अप्रैल, मई और जून इस समय में नैनीताल की खूबसूरती के साथ-साथ अनुकूल वातावरण होता है जिससे यह समय यहॉं का पीक सीजन होता है। भारी मात्रा में लोग यहॉं पहुँचते है और यहॉं की खूबसूरती का मजा लेते है।

मानसून में नैनीताल – Nainital in mansoon

मानसून सीजन यानी जुलाई से लेकर सितम्‍बर तक का समय होता है इस समय नैनीताल एकदम हर-भरा होता है। पहाडो पर बहुत सारा फॉग होता है जिसे आते जाते आसानी से देखा जा सकता है। लेकिन इस समय भूस्‍खन का भी काफी खतरा होता है इसलिए मानसून में यहॉं आने से बचना चाहिए।

नैनीताल के प्रमुख पर्यटन स्‍थल – Famous tourist places in nainital in hindi

1 नैनी झील – Naini lake

Naini lake

नैनी झील इस हिल स्‍टेशन की सबसे खूबसूरत जगह है यह एक अर्धचंद्राकारनुमा जैसी दिखाई देती है। यह झील प्रक़ति की गोद में बसी है जिसके चारो ओर पहाड, शंकुधारी वन और खूबसूरत नजारे देखने को मिलते हैं। इस झील में नौकाविहार भी कर सकते है जिसकी औसतन कीमत २०० रूपये प्रति व्‍यक्ति‍ होती है। नैनी झील अपनी प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जानी जाती है जो पारिवारिक पिकनिक के लिए सबसे अच्‍छा स्‍थान है।

स्नो व्यू प्वाइंट नैनीताल  – Snowview Point Nainital In Hindi

snow view point nainaital

नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड में माल्डन कॉटेज रोड पर स्थित “स्नो व्यू पॉइंट” समुद्र तल से 2270 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है इस व्‍यू प्‍वाइंट से सफेद बर्फ से ढकी चोटियों- नंदा देवी (7,816 मीटर), नंदा कोट (6861 मीटर) और त्रिशूल (7120 मीटर) की चोटियों को आसानी से देखा जा सकता है। केबल कार के जरिए आप मॉल रोड से सीधे स्नो व्यू पॉइंट तक पहुंचा जा सकता है।

नैना देवी मंदिर नैनीताल  – Naina Devi Temple Nainital In Hindi

Naina devi

नैना देवी मंदिर नैनी झील के तट पर ही स्थित है यह मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है। माना जाता है कि नैना देवी मंदिर दक्ष पुत्री माता सती का है हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, जहां देवी सती के नैन पृथ्वी पर गिरे थे वहीं पर यह मंदिर बना हुआ है।

टिफिन टॉप नैनीताल -Tiffin Top Nainital In Hindi

नैनीताल में टिफिन टॉप सबसे प्रसिद्ध प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण है प्रकृतिक सुंदरता को देखने के लिए इस जगह पर जरूर जाना चाहिए। नैनीताल टाउन से 4 किमी दूर स्थित समुद्र तल से 7520 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। इस स्थाप्रकृति की न को विकास डोरोथी शैले के नाम से भी जाना जाता है।। टिफिन टॉप प्रकृति की सुन्‍दरता को  कैमरे मे उतारने के लिए सबसे उचित स्थान है।

इको गुफा गार्डन नैनीताल -Eco Cave Garden Nainital In Hindi

cave garden naintal

इको गुफा गार्डन नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड का एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है यहां पर प्राकृतिक गुफाएँ हैं जिसके अन्‍दर बहुत ठण्‍ड होती है यह गुफाएं बहुत संकरी हैं कभी कभी निकलने में कठिनाई होती है इसलिए मोटे आदमी इसके अन्‍दर जाने से बचना चाहिए।

इन गुफाओं को टाइगर गुफा, पैंथर गुफा, चमगादड़ गुफा, गिलहरी गुफा, फ्लाइंग फॉक्स, एव और एप गुफा के रूप में जाना जाता है।

खुर्पाताल नैनीताल Khurpatal Nainital in Hindi

Khurpatal

खुर्पाताल नैनीताल से 10 किमी दूर बसूरत छोटा उपग्राम (खेरा) समुद्र तल से 1635 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। जो कि कॉटेज, फिशिंग फिटर (झोपड़ी) लोगों के लिए स्वर्ग है।  यहां की प्राकृतिक सुंदरता किसी को भी मंत्रमुग्ध कर देती है।

कुल्‍लू-मनाली हिमाचल प्रदेश की जानकारी लिए यहॉं क्लिक करें

मॉलरोड नैनीताल -Nainital Mall Road In Hindi

mall road

नैनी झील के दाईं ओर मॉलरोडगुजरती है जहां शाम अत्‍यन्‍त मनमोहक होती है हाल ही में इसे बदलकर ‘गोविंद बल्लभ पंत मार्ग’ कर दिया गया है। इसी रोड पर टहलते हुए नैनी लेक को देख सकते हैं और थोडी ही दूर पर नैना देवी मन्दिर भी स्थित है। इस मॉल रोड पर होटल दुकानों और बाजारों के अलावा, कई बैंक और ट्रैवल एजेंसियां देखी जा सकती है।

नैनीताल का चिड़ियाघर – Nainital zoo

नैनीताल का चिड़ियाघर नैनीताल बस स्टॉप से केवल एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह चिड़ियाघर समुद्र तल से2100 मीटर पर लगभग 4.४०० हेक्टेयर के क्षेत्र में स्थित है इस चिड़ियाघर की स्थापना 1984 में स्थापित किया गया था और 1 जून, 1995 को दर्शकों के लिए खोला गया था।

इस चिड़ियाघर में तेंदुए, बंदर, साइबेरियाई बाघ,  भेड़िये, रोज़ रिंग पैराकेट्स, सिल्वर तीतर, ताड़ के सिवेट बिल्लियाँ, पहाड़ी लोमड़ी, सांभर, प्यारे और बार्क हिरण आदि देखे जा सकते है, इसके अलावा हिमालयन काला भालू  भी देखने को मिलता है। 

सेंट जॉन चर्च इन वाइल्डरनेस (St John Wilderness Church)

सेंट जॉन चर्च इन वाइल्डरनेस वर्ष 1844 में स्थापित किया गया था जो मल्लीताल (नैनीताल के उत्तरी भाग) में स्थित है।

नैनीताल पहुँचने का उचित साधन – How to reach Nainital in Hindi

नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड पहुँचने के लिए सिर्फ और सिर्फ सड़क मार्ग ही अभी तक उपलब्‍ध है ट्रेन और हवाई जहाज द्वारा अभी सीधे तौर पर कनेक्टिविटी नहीं है।

सड़क माध्‍यम से नैनीताल कैसे पहुँचें How to reach nainital by road in hindi

सड़क द्वारा नैनीताल जाने के लिए सबसे पहले हल्‍द्वानी जाना होगा हल्‍द्वानी जो भारत के कई राज्‍यों से अच्‍छी तरह से सड़क माध्‍यम से जुड़ा है जिससे लखनउ, दिल्‍ली, देहरादून कहीं से भी आसानी से पहुँचा जा सकता है उसके बाद हल्‍द्वानी से नैनीताल की दूरी लगभग 50 किलोमीटर रह जाती है चाहे आप अपने निजी वाहन या फिर उत्‍तराखण्‍ड की बसों या फिर टैक्‍सी भी हायर कर सकते हैं।

ट्रेन मार्ग द्वारा नैनीताल – How to reach nainital by train in hindi

नैनीताल अभी तक ट्रेन से सीधे तौर पर नहीं पहुँचा जा सकता है। ट्रेन से नैनीताल जाने के लिए दिल्‍ली, लखनउ या फिर देहरादून से काठगोदाम जो हल्‍द्वानी में है यहॉं तक ट्रेन माध्‍यम से पहुंच सकते है उसके बाद टैक्‍सी या फिर बस माध्‍यम से नैनीताल जाया जा सकता है।

हवाई जहाज द्वारा नैनीताल – how to reach nainital by airoplane

नैनीताल उत्‍तराखण्‍ड का नजदीकी स्टेशन पंतनगर में है, जो लगभग 65 किमी की दूरी पर है। अभी तक नैनीताल के लिए कोई सीधी कनेक्टिविटी नहीं है। 

Leave a Comment